सर्वाधिकार सुरक्षित ©

इस ब्लॉग पर प्रकाशित अभिव्यक्ति (संदर्भित-संकलित गीत /चित्र /आलेख अथवा निबंध को छोड़ कर) पूर्णत: मौलिक एवं सर्वाधिकार सुरक्षित है।
यद्यपि मेरे अपने लिखे का स्तर कहीं भी प्रकाशन योग्य नहीं है, फिर भी यदि कहीं प्रकाशित करना चाहें तो yashwant009@gmail.com द्वारा पूर्वानुमति/सहमति अवश्य प्राप्त कर लें।

Showing posts with label ड्राइंग्स. Show all posts
Showing posts with label ड्राइंग्स. Show all posts

14 November 2011

बाल दिवस की शुभकामनाएँ!

मेरी छोटी सी कज़िन वंशिका को तो आप जानते ही हैं लीजिये आज बाल दिवस पर फिर से देखिये उनकी कुछ ड्राइंग्स--











26 June 2011

वंशिका की कुछ ड्राइंग्स

इस ब्लॉग के माध्यम से आप वंशिका को जानते ही हैं.आज फिर प्रस्तुत हैं उनकी कुछ ड्राइंग्स.
 
 



18 April 2011

एक बार फिर वंशिका की कुछ ड्राइंग्स

लीजिए एक बार फिर से देखिये वंशिका की कुछ नयी ड्राइंग्स.
इस बार इनकी  फोटो भी है साथ में.
(यही हैं वंशिका )

(सबका है यही सपना,सुन्दर सा हो एक घर अपना)


(काश!मैं भी चिडिया होती ,तो खूब आसमान में उड़ती)

(श्री गणेशाय नमः )

(गर्मियों में इस बार हिल स्टेशन जायेंगे )

(थोडा हंस लो ,थोडा सा मुस्कुरा लो,हमारे संग आप भी कुछ गा लो )



आशा है ये ड्राइंग्स भी आप को पसंद आएँगी और वंशिका आप सबका स्नेह और आशीष पा सकेगी.

वंशिका  की पहले प्रकाशित ड्राइंग्स को आप यहाँ क्लिक करके देख सकते हैं.

[Photo captions-Yashwant Mathur]

05 April 2011

आज कुछ ड्राइंग्स

आज इस ब्लॉग पर देखिये पारुल की कुछ ड्राइंग्स.कक्षा -7 की छात्रा पारुल मेरी भतीजी हैं और लखनऊ में ही रहती हैं.ड्राइंग-पेंटिंग और गाना गाने में इनकी विशेष रुचि है और क्रिकेट इनका मन पसंद खेल.बड़े होकर डाक्टर बनना चाहती हैं.दुआ कीजिए इनका सपना सच हो और फिलहाल देखिये इनकी बनायी कुछ ड्राइंग्स को -

(यह धरती बहुत सुन्दर है )

(अभी तक तो बस नहीं आई,चलो बहन कुछ इंतज़ार करते हैं )

(Modeling)

(Poem)

(अगर ये पेड़ न रहे तो हम झूला कैसे झूलेंगे ,पेड़ न काटें )

(चूं चूं करती आती  चिड़िया ,बैठ शाख पे गाती चिड़िया )

(चूं चूं करती आती  चिड़िया ,बैठ शाख पे गाती चिड़िया )

(चूं चूं करती आती  चिड़िया ,बैठ शाख पे गाती चिड़िया )

अगर  आपको ये ड्राइंग्स अच्छी लगीं तो बताईयेगा ज़रूर और पारुल को अपना आशीर्वाद भी दीजियेगा!

12 December 2010

वंशिका की कुछ ड्राइंग्स-कृपया अपना आशीर्वाद दीजिये

लखनऊ में रहने वाली नन्ही सी वंशिका माथुर  मेरी चचेरी बहन हैं जो अभी कक्षा-4 में पढ़ती हैं.पढ़ाई के अलावा पेंटिंग इनका शौक है और खेलकूद में इन्हें सिर्फ सांप-सीढी खेलना पसंद है.मेरा तो मन था कि इनकी फोटो भी लगाता लेकिन अभी उपलब्ध नहीं है.
आप भी देखिये इनकी कुछ ड्राइंग्स और अपना आशीर्वाद भी दीजिये.

(हैप्पी क्रिसमस )

(कितनी सुन्दर है ये धरती )

(ये सब भगवान ने बनाया  है )

(इन्द्रधनुष अम्बर में छाया,बच्चों के मन को भाया )

(यूनिकॉर्न)

(तितली बनकर उड़ उड़ जाऊं )

  Children are my weakness!
+Get Now!